उपरिशायी

हवाई यात्रा के दौरान सिख यात्रियों द्वारा "कृपाण’’ का वहन

सुरक्षा विनियम

यात्री केबिन में "कृपाण” का वहन

"कृपाण’’ सिख धर्म का महत्‍त्‍वपूर्ण धार्मिक प्रतीक है। भारतीय कानून के अनुसार, भारत के पंजीकृत विमान में यात्री अपने साथ कृपाण ले जा सकते हैं बशर्ते उड़ान का आरंभ तथा गंतव्‍य स्‍थान भारत में ही हो। कृपाण के माप की कुल लंबाई अधिकतम 9 इंच (22.86 से.मी.) से अधिक न हो जिसमें ब्‍लेड की लंबाई 6 इंच (15.24 सेमी) तथा हैंडल की लंबाई 3 इंच (7.62 सेमी) से अधिक नहीं होनी चाहिए।

किसी भी अंतरराष्‍ट्रीय उड़ान अथवा अंतरराष्‍ट्रीय टर्मिनल सिक्‍योरिटी होल्‍ड एरिया से प्रचालित होने वाली किसी भी घरेलू उड़ान में अपने साथ अथवा हैंड बैगेज में विमान के केबिन में "कृपाण” ले जाने की अनुमति नहीं है तथा यात्री इसका वहन केवल अपने चेक-इन बैगेज में ही कर सकते हैं।

बंद करें

आप www.airindia.in की एक यात्रा साथी दौरा कर रहे हैं।

इस वेबसाइट एयर इंडिया के नियंत्रण में एक तीसरी पार्टी और नहीं के स्वामित्व और संचालित है।

आप अपने साथी के साथ सीधे एक समझौते में प्रवेश किया जाएगा. सभी अतिरिक्त संचार हमारे साथी द्वारा प्रदान ईमेल पता और / या फोन नंबर करने के लिए निर्देशित किया जाएगा।

आपके प्रश्नों / दावा है, किसी ने कहा कि वेबसाइट के आपके उपयोग से उत्पन्न, वेबसाइट और एयर इंडिया के मालिक के लिए पूरी तरह निर्देशित किया जाना चाहिए तो उस संबंध में जिम्मेदार और / या उत्तरदायी नहीं होगा।

जारी है

बंद करें

आप www.airindia.in के ट्रैवल पार्टनर की वेबसाइट पर जा रहे हैं।

यह वेबसाइट तीसरी पार्टी की है और उनके द्वारा प्रचालित की जाती है। इसका नियंत्रण एअर इंडिया के पास नहीं है।

आप को सीधे हमारे पार्टनर के साथ करार करना होगा। भविष्‍य में किए जाने वाले सभी पत्राचार हमारे पार्टनर द्वारा उपलब्‍ध कराए गए ई-मेल पते और/या फोन पर किए जाएं।

उक्‍त वेबसाइट का उपयोग करने से उत्‍पन्‍न किसी भी प्रश्‍न/दावे को सीधा वेबसाइट के स्‍वामी को भेजा जाए। इस संबंध में एअर इंडिया जिम्‍मेवार और/या उत्‍तरदायी नहीं होगी।

जारी है

Back to Top
Rate this site
Live Support