Overlay

अशक्‍त यात्रियों के लिए सहायता

आपकी आवश्‍यकताओं की पूर्ति हेतु अनिवार्य सेवाएं प्रदान करने के लिए कृपया हमें बताएं कि हम किस प्रकार आपकी सहायता कर सकते हैं।

हवाई यात्रा के दौरान अशक्‍त यात्री या ऐसे यात्री जो चलने-फिरने में पूरी तरह सक्षम न हों के लिए आवश्‍यक सभी महत्‍त्‍वपूर्ण सूचनाएं यहां दी गई हैं।

अशक्‍त यात्री या ऐसे यात्री जो चलने-फिरने में पूरी तरह सक्षम न हों।

अशक्‍त व्‍यक्तियों द्वारा यात्रा करते समय उनकी यात्रा को आरामदायक बनाने के लिए प्रत्‍येक प्रयास किए जाते हैं तथा उनकी सहायता के लिए सभी आवश्‍यक व्‍यवस्‍थाएं पहले से ही पूरी कर दी जाती हैं। अशक्‍त यात्री वे होते हैं जो शा‍रीरिक रूप से अक्षम हैं या जिन्‍हें न्‍यूरोलॉजिकल डिस्‍आडर है अथवा जो स्‍वास्‍थ्‍य संबंधी परेशानी से जूझ रहे हैं तथा जिन्‍हें विमान में चढ़ते/उतरते समय या उड़ान के दौरान तथा एयरपोर्ट पर व्‍यक्तिगत ध्‍यान या सहायता की जरूरत होती है जो सामान्‍यत: दूसरे यात्रियों को नहीं दी जाती। यह अपेक्षा बुकिंग के समय यात्री या उसके परिवार या चिकित्‍सा प्राधिकारी द्वारा किए गए विशेष अनुरोध से स्‍पष्‍ट हो जाती है।

श्रेणियां

अशक्‍त यात्रियों की शारीरिक या स्‍वास्‍थ्‍य संबंधी स्थिति को ध्‍यान में लाए बिना उन्‍हें विभिन्‍न समूहों में श्रेणीबद्ध किया जा सकता है। इन समूहों की पहचान एयरलाइन संदेश में दिए गए एआईआरआईएमपी कोड द्वारा की जा सकती है जो निम्‍नानुसार हैं:

  • डब्‍ल्‍यूसीएचआर व्‍हीलचेयर – रैंप के लिए आर (यात्री सीढ़ी चढ़/उतर सकता है तथा सीट तक चल कर जा सकता है)
  • डब्‍ल्‍यूसीएचएस व्‍हीलचेयर – सीढ़ियों के लिए एस (यात्री सीढ़ियाँ चढ़ने-उतरने में असमर्थ किंतु सीट तक चल कर जा सकता है)
  • डब्‍ल्‍यूसीएचसी व्‍हीलचेयर – केबिन सीट के लिए सी (यात्री चलने-फिरने में पूर्ण रूप से अक्षम)
  • एसटीसीआर स्‍ट्रेचर यात्री
  • बीएलएनडी नेत्रहीन यात्री (यदि सहायता के लिए साथ में कुत्‍ता हो तो उसका विशेष रूप से उल्‍लेख करें।)
  • डीइएएफ – बधिर यात्री
  • एमईडीए चिकित्‍सा मामला (चिकित्‍सा अनुमति अपेक्षित)
  • ओएक्‍सवाईजी उड़ान के दौरान ऑक्‍सीजन की आवश्‍यकता
  • एलईजीएल बाईं टांग में प्‍लास्‍टर होना
  • एलईजीआर दायीं टांग में प्‍लास्‍टर होना
  • एलईजीबी दोनों टांग में प्‍लास्‍टर होना
  • एलाइंस एयर की एटीआर उड़ानों में ऑन बोर्ड व्‍हील चेयर सुविधा उपलब्‍ध नहीं है।

सीमाएं

यात्रियों से अनुरोध है कि उड़ान बुकिंग/ टिकट जारी कराते समय पहले से ही व्‍हील चेयर बुक करा लें ताकि अंतिम समय के विलंब/ व्‍हील चेयर न मिलने की परेशानी से बचा जा सके । विमान सुरक्षा को ध्‍यान में रखते हुए हमारी उड़ानों पर व्‍हीलचेयर यात्रियों का वहन प्रतिबंधित है। इस प्रतिबंध का मुख्‍य उद्देश्‍य आपात स्थिति में विमान को खाली कराते समय सभी यात्रियों की सुरक्षा है।

एअर इंडिया निम्‍नलिखित स्थितियों में यात्रियों को ले जाने से इंकार कर सकती है:-

जब यात्री की शारीरिक या स्‍वास्‍थ्‍य संबंधी स्थिति से अन्‍य यात्रियों तथा उनकी संपत्ति, विमान या कर्मीदल की सुरक्षा को कोई खतरा हो।

यात्री जो एअर इंडिया की वहन की विशिष्‍ट शर्तों को मानने से इंकार करते हैं या उसका अनुपालन नहीं करते।

स्‍ट्रेचर या इनक्‍यूबेटर में यात्रा कर रहे यात्री, ऐसे यात्री जिन्‍हें चलने-फिरने में अत्‍यधिक कठिनाई होती हो, ऐसे यात्री जिन्‍हें बहुत कम सुनाई या दिखाई पड़ता हो, के साथ एस्‍कार्ट होना जरूरी है जो उड़ान के दौरान उनके चढ़ने, उतरने में सहायता करेगा या उनका उत्‍तरदायित्‍व लेगा या आपात स्थिति में विमान छोड़ने में उनकी सहायता करेगा।

व्‍यक्ति जो संक्रमण फैला सकता हो तथा कुछ रोगों के मामले में जो अन्‍य यात्रियों के लिए असुविधाजनक हो।

व्‍हीलचेयर का प्रभार

सामान्‍यत: निम्‍नलिखित श्रेणी के यात्रियों से व्‍हीलचेयर सहायता का अनुरोध प्राप्‍त होता है:

व्हीलचेयर सुविधा के लिए पात्रता

  • चलने-फिरने में असमर्थ यानि पूर्णत: व्‍हीलचेयर पर निर्भर यात्री
  • चलने-फिरने में समर्थ यानि किसी की सहायता से चलने वाले यात्री
  • वृद्ध यात्री

अशक्‍त यात्रियों के लिए बाधारहित यात्रा संबंधी नागरिक अधिकारों का अनुपालन करते हुए, सभी एयरपोर्टों पर किसी भी श्रेणी में यात्रा कर रहे यात्रियों द्वारा व्‍हीलचेयर के प्रयोग के लिए कोई प्रभार नहीं लिया जाता।

एयरपोर्ट तथा विमान में इधर-उधर ले जाने में सहायता प्रदान करना

यदि आप एयरपोर्ट के भीतर इधर-उधर ले जाने के लिए सहायता चाहते हैं तो कृपया बुकिंग करते समय इस आशय का अनुरोध करें ताकि आपको सेवा प्रदान की जा सके। यदि एअर इंडिया के पास पहले से ही आपकी बुकिंग है तो आप बुकिंग कार्यालय से जहां से आपने बुकिंग/टिकट ली है, इधर-उधर ले जाने में सहायता प्रदान करने का अनुरोध कर सकते हैं।

सुविधा

एयरपोर्ट पर व्‍हीलचेयर सहायता की अपेक्षा रखने वाले यात्रियों की सहायता के लिए एअर इंडिया निम्‍नलिखित कार्रवाई सुनिश्चित करती है:

व्‍हीलचेयर अनुरोध को समुचित रूप से रिकार्ड किया जाता है तथा एअर इंडिया और इंटरलाइन यात्रा के प्रत्‍येक सेगमेंट के एसएसआर एलिमेंट में उसकी पुष्टि की जाती है। चैक-इन के समय प्रणाली में उचित इनपुट दर्ज किए जाते हैं ताकि केबिन क्रू की सूचना और कार्यवाही के लिए यह प्रदर्शित हो सके। विकलांग यात्रियों को विमान पर पहले चढ़ाया तथा आखिर में उतारा जाता है ताकि अन्‍य यात्रियों के चलने-फिरने में कोई कठिनाई न हो। विकलांग यात्रियों की सुविधा के लिए उन्‍हें प्रसाधन कक्ष के समीप किनारे की सीट(आयल) पर बैठाया जाता है। ऐसे मामलों में कमांडर तथा केबिन क्रू को यात्री की चिकित्‍सा जानकारी, यदि कोई है, सहित समस्‍त जानकारी उपलब्‍ध कराई जाती है ताकि विमान पर केबिन क्रू हर प्रकार से सहायता प्रदान कर सके। प्रस्‍थान के बाद सभी मार्ग के स्‍टेशनों तथा गंतव्‍यों पर संदेश भेजा जाता है ताकि ट्रांजिट तथा आगमन पर यात्रियों की सहायता की जा सके। आगमन पर ऐसे यात्रियों को उतरने में सहायता दी जाती है तथा बैगेज हॉल तक या आगे यात्रा करने पर संबंधित वाहक तक, एस्‍कार्ट उपलब्‍ध कराया जाता है।

चिकित्‍सा क्‍लीयरेंस अपेक्षित नहीं

ऐसे अशक्‍त यात्रियों, जिन्‍हें केवल एयरपोर्ट पर या विमान में चढ़ने या उतरने के समय विशिष्‍ट सहायता की आवश्‍यकता होती है, से कोई चिकित्‍सा क्‍लीयरेंस या विशेष फार्म लेना अपेक्षित नहीं होता है।

वे यात्री जो स्‍थायी रूप से या लम्‍बे समय से अशक्‍त हैं तथा जिन्‍हें चिकित्‍सा क्‍लीयरेंस की आवश्‍यकता नहीं होती किन्‍तु जिन्‍हें अपनी यात्रा को सरल बनाने के लिए केवल सहायता की आवश्‍यकता होती है उनके लिए किसी वाहक का चिकित्‍सा विभाग, फ्रीक्‍वेंट ट्रैवलर मेडिकल कार्ड (एफआरइएमइसी) जारी कर सकता है। यदि किसी वाहक के चिकित्‍सा प्राधिकरण द्वारा ऐसे कार्डों को जारी किया जाता है और उन कार्डों को उनकी वैधता तिथि तक प्रस्‍तुत करने पर उसे चिकित्‍सा क्‍लीयरेंस के रूप में यात्रा के लिए स्‍वीकृत किया जा सकता है।

चिकित्‍सा क्‍लीयरेंस अपेक्षित

यात्रियों के परिवहन में सम्मिलित निम्‍नलिखित यात्रियों को एअर इंडिया के चिकित्‍सा सेवाएं विभाग तथा अन्‍य सभी इंटरलाइन वाहकों के चिकित्‍सा विभाग/ परामर्शदाताओं की क्‍लीयरेंस लेनी आवश्‍यक होगी। जिन यात्रियों के लिए चिकित्‍सा क्‍लीयरेंस अपेक्षित है एयरलाइन ऐसे यात्रियों के परिवहन से तब तक मना कर सकती है जब तक कि वे वाहक/वाहकों के परिवहन की अपेक्षाओं को पूरा नहीं कर लेते। ऐसी बीमारी से ग्रस्‍त यात्री जो संक्रामक और संचारी मानी जाती है। कुछ बीमारियां या अशक्‍तता जिसमें यात्री असामान्‍य व्‍यवहार कर सकता है या यात्री की शारीरिक स्थिति बिगड़ सकती है जिसका अन्‍य यात्रियों की कुशलता और आराम में प्रतिकूल प्रभाव पड़ सकता है। उड़ान की सुरक्षा (मार्ग परिवर्तन तथा अनियत अवतरण की संभावना सहित) के लिए संभावित खतरा। जिन यात्रियों के लिए उड़ान के दौरान उनके स्‍वास्‍थ्‍य को ठीक रखने के लिए चिकित्‍सा की दृष्टि से विशेष ध्‍यान देने तथा विशेष उपकरण की आवश्‍यकता पड़ सकती है। ऐसे यात्री जिनकी स्‍वास्‍थ्‍य स्थिति उड़ान के दौरान और बिगड़ सकती है। ऐसे अशक्‍त यात्रियों, जिन्‍हें चिकित्‍सा सहायता की आवश्‍यकता होती है के संबंध में बुकिंग के समय (एजेंट कार्यालय या एयरलाइन कार्यालय में) सूचना फार्म भरा जाना अपेक्षित है जिसमें यात्री के लिए अपेक्षित चिकित्‍सा सहायता की सभी जानकारियां दी गई हों। जहां यह निश्चित हो जाए कि यात्री के लिए चिकित्‍सा क्‍लीयरेंस अपेक्षित है, तो ऐसे यात्री को एमईडीआईएफ फार्म लेकर अपने डॉक्‍टर से भरवाना अपेक्षित होता है। पूरा भरा हुआ फार्म आवश्‍यक कार्यवाही के लिए एअर इंडिया चिकित्‍सा सेवाएं विभाग को भेजा जाना अपेक्षित है। चिकित्‍सा विभाग तथा अन्‍य भागीदार वाहकों से यात्रा के लिए क्‍लीयरेंस प्राप्‍त करने के बाद बुकिंग की जा सकती है तथा पीएनआर पूरा हो जाता है ।

ऐसे यात्री जिन्‍हें लगातार ऑक्‍सीजन की आवश्‍यकता पड़ती है, को लंबी नॉन-स्‍टॉप उड़ानों के लिए बुक नहीं किया जाता क्‍योंकि उड़ान की पूरी अवधि के लिए सीमित मात्रा में ही ऑक्‍सीजन ले जाई जा सकती है।

व्‍हीलचेयर तथा अन्‍य सहायक उपकरणों की उपलब्‍धता के लिए एअर इंडिया सुनिश्चित करता है कि:

विमान में चढ़ने/उतरने वाले यात्रियों के लिए पर्याप्‍त संख्‍या में व्‍हीलचेयर उपलब्ध हो। अपनी व्‍हीलचेयर या सहायक उपकरणों के साथ यात्रा करने वाले यात्री अनुरोध पर उन्‍हें अपने साथ यात्री केबिन पर ले जा सकते हैं बशर्ते विमान में स्‍थान उपलब्‍ध हो। वैकल्पिक रूप से व्‍हीलचेयर या सहायक उपकरण बैगेज होल्‍ड में रखे जाते हैं जहां से वे यात्री को समय से लौटाने पर सरलता से उपलब्‍ध हो सकें। अपनी व्‍हीलचेयर पर चैक-इन करने के इच्‍छुक यात्री, को एयरलाइन/एयरपोर्ट व्‍हीलचेयर के उपयोग का विकल्‍प दिया जाता है। यदि यात्री एयरपोर्ट पर अपनी व्‍हीलचेयर का इस्‍तेमाल करना चाहते हैं तो उन्‍हें विमान के दरवाजे तक उसका प्रयोग करने की अनुमति है फिर विधिवत् रूप से व्‍हीलचेयर को टैग लगाकर होल्‍ड क्षेत्र में रखने के लिए भेज दिया जाता है। बिना आर्म रेस्‍ट की छोटी व्‍हीलचेयर यात्रा के दौरान विमान में यात्री केबिन में उपलब्‍ध रहती हैं।

स्‍ट्रेचर मामले

स्‍ट्रेचर के लिए अनुरोध पहले से किया जाना जरूरी है तथा वह स्‍थान उपलब्‍ध होने पर ही देय होगा। जहां दूसरी एयरलाइनों पर इंटरलाइन यात्रा की जानी हो, वहां दूसरी एयरलाइनों पर विशेष भोजन, दवाइयां, ऑक्‍सीजन, एम्‍बुलेंस तथा अन्‍य आवश्‍यकताओं की व्‍यवस्‍था के लिए दूसरी एयरलाइनों के साथ अग्रिम व्‍यवस्‍था की जानी आवश्‍यक होती है। इकोनॉमी श्रेणी में केवल एक स्‍ट्रेचर प्रति उड़ान स्‍वीकार किया जाता है। प्रथम तथा एग्‍जेक्‍यूटिव श्रेणी में कोई स्‍ट्रेचर नहीं ले जाया जाता।एलाइंस एयर की एटीआर/सीआर7 उड़ानों में कोई स्‍ट्रेचर नहीं ले जाया जाता। स्‍ट्रेचर मामले चिकित्‍सा सेवाएं विभाग से क्‍लीयरेंस के पश्‍चात् ही स्‍वीकार किए जाते हैं तथा विमान में साथ ले जाई जाने वाली ऑक्‍सीजन की मात्रा मुख्‍य चिकित्‍सा अधिकारी द्वारा निश्चित की जाएगी।

एमईडीआईएफ फार्म क्‍लीयरेंस हेतु भरे जाने अपेक्षित हैं जिन्‍हें एअर इंडिया कार्यालय से प्राप्‍त किया जा सकता है।

एमईडीआईएफ फार्म आयटा अनुमोदित दस्‍तावेज है तथा इसमें अशक्‍त यात्रियों के वहन के लिए एयरलाइन को उपलब्‍ध कराए जाने वाली न्‍यूनतम सूचनाएं दी जाती हैं। ऐसे यात्रियों के वहन के लिए अपेक्षित होने पर कंपनी अतिरिक्‍त सूचनाएं या स्‍पष्‍टीकरण मांगने के लिए स्‍वतंत्र है। एमईडीआईएफ फार्म पूर्ण रूप से यात्री द्वारा भरा जाता है और यदि यात्री ऐसा करने में असमर्थ है तो यह फार्म उनके प्राधिकृत प्रतिनिधि द्वारा भरा जाता है। फार्म में सूचना का एक भाग यात्रा ब्‍यौरे तथा उड़ानगत या बीच के गंतव्‍यों के लिए सेवाओं के अनुरोध संबंधी जानकारी देता है, एमईडीआईएफ का दूसरा भाग अशक्‍त यात्री के प्रभारी चिकित्‍सक द्वारा भरा जाना होता है जो यात्री की रोग संबंधी सूचना उपलब्‍ध कराता है। उपचार करने वाले चिकित्‍सक के प्रमाणन सहित एमईडीआईएफ को पूर्ण रूप से भरना तथा एमईडीआईएफ के अंत में वचन बंध/यात्री घोषणा लेना अनिवार्य होता है। सबसे महत्‍त्‍वपूर्ण है कि यात्री या उसके प्रतिनिधि द्वारा विमान यात्रा का अनुरोध करते हुए एमईडीआईएफ पर हस्‍ताक्षर किए जाएं। अशक्‍त यात्री द्वारा प्रत्‍येक बार वाणिज्यिक एयरलाइन्‍स से यात्रा करते समय एमईडीआईएफ फार्म भरना आवश्‍यक होता है तथा क्‍लीयरेंस विशेष उड़ान तथा तिथि तक ही वैध होता है।

यथोचित रूप से भरा हुआ MEDIF फार्म निकटतम एअर इंडिया कार्यालय में उड़ान के प्रस्था न से 7 दिन पूर्व जमा कराना अपेक्षित है। उड़ान प्रस्थायन से 48 घंटे से कम समय पूर्व यह फार्म नहीं स्वी कार किया जाएगा।तथापि, उल्ले खनीय है कि विमान में यात्रा के लिए स्ट्रे चर यात्रियों के वहन के सभी केस MEDIF फार्म के आधार पर रोगी की चिकित्सीिय स्थिति की क्ली‍यरेंस तथा/अथवा एयरलाइन के चिकित्सा, अधिकारी द्वारा मांगी गई चिकित्साि सूचना के अधीन होंगे।

एमईडीआईएफ अपेक्षित यात्रियों की श्रेणियां

मोटे तौर पर जिन यात्रियों को स्‍वास्‍थ्‍य के आधार पर एयरलाइन द्वारा विशिष्‍ट सहायता/सुविधा की आवश्‍यकता होती है, उन्‍हें एयरलाइन आरक्षण से अनुरोध करना चाहिए कि चिकित्‍सा मामले के रूप में यात्रा करने के लिए उन्‍हें सूचना तथा आवश्‍यक फार्म अर्थात् एमईडीआईएफ उपलब्‍ध कराए जाएं।

  • यात्री जिन्‍हें विमान पर चढ़ने के लिए स्‍ट्रेचर या इनक्‍यूबेटर की आवश्‍यकता होती है।
  • यात्री जिन्‍हें स्‍वास्‍थ्‍य आधार पर उनके उपचार करने वाले चिकित्‍सक की अनुशंसा पर विमान में अतिरिक्‍त ऑक्‍सीजन सप्‍लाई आवश्‍यक होती है।
  • यात्री जिन्‍हें पैर को उठा के रखने के लिए अतिरिक्‍त जगह की आवश्‍यकता होती है।
  • यात्री जिन्‍हें विमान पर चिकित्‍सा उपकरण के प्रयोग की आवश्‍यकता होती है।

अशक्‍त यात्री जिनकी स्‍थायी विकलांगता पूरी तरह स्‍थापित है तथा जिनके भविष्‍य में प्रगति करने की संभावना नहीं है, को जब भी एअर इंडिया से यात्रा करनी हो तो प्रत्‍येक बार उन्‍हें एमईडीआईएफ भरने की आवश्‍यकता नहीं है। वे चिकित्‍सा सेवाएं विभाग, मुंबई से एफआरईएमइसी कार्ड (फ्रीक्‍वेंट ट्रैवलर मेडिकल कार्ड) को जारी करने का अनुरोध कर सकते हैं जो नि:शुल्‍क जारी किया जाता है।

एफआरईएमइसी कार्ड की विनिर्दिष्‍ट अवधि की वैधता अशक्‍तता पर निर्भर करती है।

मानसिक रूप से अशक्‍त यात्री

मानसिक रूप सेअशक्‍त यात्रियों को यात्रा की स्‍वीकृति

  • मानसिक रूप से अशक्‍त यात्रियों को उपयुक्‍त अटेंडेंट के बिना यात्रा की स्‍वीकृति नहीं दी जाती है ।
  • प्रशिक्षित अटेंडेंट के पास इंजेक्‍टेब्‍ल सेडेटिव दवाई की पर्ची सहित इलाज कर रहे चिकित्‍सक का प्रमाण-पत्र होना चाहिए क्‍योंकि यात्रा आरंभ होने से पूर्व अथवा यात्रा के दौरान अटेंडेंट द्वारा संबंधित यात्री को उक्‍त दवाई दी जानी अपेक्षित हो सकती है ।
  • अटेंडेंट को यह जानकारी अवश्‍य दी जानी चाहिए कि मानसिक रूप से अशक्‍त यात्री की देखभाल के लिए विशेष रूप से कोई भी केबिन कर्मी उपलब्‍ध नहीं होगा ।

दृष्टिहीन यात्री-आई डॉग के साथ यात्रा कर रहे यात्री को स्‍वीकार करना

  • दृष्टिहीन को ले जाने के लिए दृष्टिहीन यात्री के साथ जा रहे प्रशिक्षित कुत्‍ते को तब तक नहीं ले जाया जा सकेगा जब तक की प्रवेश करने वाले देश या गंतव्‍य क्षेत्र और ट्रांजिट के देशों से, जहां परमिट अपेक्षित होता है, परमिट प्राप्‍त नहीं हो जाता।
  • सभी परमिटों को आरक्षण के समय प्रस्‍तुत करना होता है।
  • कुत्‍ता ठीक प्रकार से बंधा होना चाहिए तथा उसका मुंह भी बंधा होना चाहिए।
  • कुत्‍ते को यात्री केबिन या होल्‍ड में प्रत्‍येक देश के विनियमों तथा कुत्‍ते के आकार के आधार पर ले जाया जा सकता है।
  • कुत्‍ते को सीट देने की अनुमति नहीं होगी।
  • कुत्‍ते को सामान्‍य नि:शुल्‍क सामान सीमा के अतिरिक्‍त नि:शुल्‍क रूप से ले जाया जा सकता है।
  • यदि मार्ग में पड़ने वाले देश या क्षेत्र में कुत्‍ते का प्रवेश प्रतिबंधित होता है तो कुत्‍ते के वहन को अस्‍वीकृत कर दिया जाएगा।
  • गंतव्‍यों/ट्रांजिट स्‍टेशनों के सरकारी प्राधिकरण द्वारा अपेक्षित सभी औपचारिकताओं का अनुपालन किया जाता है।

अशक्‍तता के आधार पर भेद-भाव न करने के संबंध में यूएस नियम

एअर इंडिया की यूएस एयरपोर्ट से आरंभ हो रही तथा समाप्‍त हो रही सभी उड़ानों पर यह नियम लागू होता है।

निम्‍निलिखित प्रविधियों का उपयोग कर यूएस के परिवहन विभाग से इन नियमों की सुलभ प्रति भी प्राप्‍त की जा सकती है :

  • दिव्‍यांग हवाई यात्रियों के लिए 1-800-778-4838 (वॉयस) अथवा 1-800-455-9880 (टीटीवाई) टोलफ्री हॉटलाइन पर टेलीफोन से यूएस के भीतर से की गई कॉल
  • 202-366-2220 (वॉयस) or 202-366-0511 (टीटीवाई) पर एविएशन कन्‍ज़ूमर प्रोटेक्‍शन डिवीज़न में टेलीफोन कर
  • Air Consumer Protection Division, C-75, U.S. Department of Transportation, 1200 New Jersey Ave., SE., West Building, Room W96-432, Washington, DC 20590 पते पर डाक भेजकर।
  • एविएशन कन्‍ज़ूमर प्रोटेक्‍शन डिवीज़न की वेबसाइट http://www.dot.gov/airconsumer पर
बंद करें

आप www.airindia.in की एक यात्रा साथी दौरा कर रहे हैं।

इस वेबसाइट एयर इंडिया के नियंत्रण में एक तीसरी पार्टी और नहीं के स्वामित्व और संचालित है।

आप अपने साथी के साथ सीधे एक समझौते में प्रवेश किया जाएगा. सभी अतिरिक्त संचार हमारे साथी द्वारा प्रदान ईमेल पता और / या फोन नंबर करने के लिए निर्देशित किया जाएगा।

आपके प्रश्नों / दावा है, किसी ने कहा कि वेबसाइट के आपके उपयोग से उत्पन्न, वेबसाइट और एयर इंडिया के मालिक के लिए पूरी तरह निर्देशित किया जाना चाहिए तो उस संबंध में जिम्मेदार और / या उत्तरदायी नहीं होगा।

जारी है

बंद करें

आप www.airindia.in के ट्रैवल पार्टनर की वेबसाइट पर जा रहे हैं।

यह वेबसाइट तीसरी पार्टी की है और उनके द्वारा प्रचालित की जाती है। इसका नियंत्रण एअर इंडिया के पास नहीं है।

आप को सीधे हमारे पार्टनर के साथ करार करना होगा। भविष्‍य में किए जाने वाले सभी पत्राचार हमारे पार्टनर द्वारा उपलब्‍ध कराए गए ई-मेल पते और/या फोन पर किए जाएं।

उक्‍त वेबसाइट का उपयोग करने से उत्‍पन्‍न किसी भी प्रश्‍न/दावे को सीधा वेबसाइट के स्‍वामी को भेजा जाए। इस संबंध में एअर इंडिया जिम्‍मेवार और/या उत्‍तरदायी नहीं होगी।

जारी है

Back to Top
Rate this site
Live Support